Sabse Bada Bhagwan कौन है और कौन है सबसे शक्तिशाली भगवान

जबसे ये श्रष्टि का आरम्भ हुवा है तब से प्रश्‍न कई भर उठा है की भ्रमः वुष्णु महेश में से sabse bada bhagwan kaun hai और सबसे शक्तिशाली भगवान कौन है

नमसकरा स्वागत है आप का एक बार फिर से techjazz.in में दोस्तों हमारे हिन्दू रीतिरिवाज में बहुत सारे भगवन है और हम सभी भगवान को एक जैसे दर्जा देते है और सभी भगवान का पिजा आराधना करते है लेकिन हमारे मन में कभी न कही प्रश्‍न उठ ही जाता है

की आखिर sabse bada bhagwan कौन है। तो आज हम आपको इस आर्टिकल में बताएंगे की दुनिया का सबसे बड़ा भगवन कौनसा है। और सबसे सक्तिसाली भगवान कौनसा है।

तो चलिए जानते है sabse bada bhagwan kaun hai पूरी दुनिया का और भ्रमः विष्णु और महेश में से

तीनो लोको में सबसे बड़ा भगवन कौन है

जबसे ये श्रष्टि का आरम्भ हुवा है तब से प्रश्‍न कई भर उठा है की भ्रमः वुष्णु महेश में से sabse bada bhagwan kaun hai और सबसे शक्तिशाली भगवान कौन है

दोस्तों इस सन्दर्भ में दो कथा मिलती है महा शिवपुराण और दूसरा भगवत कथा में है महा शिवपुराण के अनुसार एक बार भ्रमः और विष्णु में विवाद होगया की उन दोनों में से सबसे बड़ा और सकती साली कौन है

यह विवाद इतना बढ़ गया की उन दोनों में युद्ध करने की नौबत आ गई

अब उन दोनों के मध्य एक बड़ा सा अगनि स्तम्भ प्रकट होगया ऊब उन दोनों में याह निश्चय हुवा की उन दोनों में जो इस अगनि स्तम्भ को पा लेगा वही सबसे बड़ा भगवान और

सबसे सक्तिसाली भगवान माना जायेगा भगवान विष्णु उस अगनि स्तम्भ को पाने के लिए निचे की ओर गए और भ्रमः जी ऊपर की ओर दोनों में इस अगनि स्तम्भ को पाने में सफल न होसका

भगवान विष्णु ने तो अपनी हार सुविकार कर ली परंतु भ्रमः जी ने झूट कह दिया की उन्होंने अगनि स्तम्भ पा लिया भ्रमः जी के मुख से असत्य सुन कर उस स्तम्भ में से भगवान सिव जी प्रकट हुवे

और उन्होंने भ्रमः जी के पांच मुख में से जिस मुख ने झूट बोला उस मुख को अपने तिरसुल से काट दिए और उन्हें श्राप दे दिया की संसार में उनकी कभी पूजा कभी नहीं होगी और भवन विष्णु से खुस होकर उन्हें वरदान दिया

की उन्हें उनके महान रूप को पूजा जायगा तो इस कथा के अनुसार sabse bada bhagwan शिवजी है और सब भगवान में सक्तिसाली भी

सबसे श्रेस्ट भगवान कौन है

एक कथा श्रीमत भगवत पुराण में मिलती है जिसके अनुसार सप्त ऋषियों में यह चर्चा होरही थी की भ्रमः वृष्णि और महेश में से कौन बड़ा है

स्लिये उन्होंने तीनो देवो की परीछा लेने का निश्चय किया और ये कार्य महऋशु ध्रिगु को सौपा गया महऋशु ध्रिगु अपने उदेश्य से भ्रमः जी के पस गए और उन्होंने उनका अपमान किया इस अपमान से भ्रमः देव क्रोधित होगये उसके बाद महऋशु ध्रिगु शिवजी के पास गए

और उन्होंने शिवजी का भी अपमान किया परन्तु शिवजी ने कुछ नहीं कहा बस मुस्कुराते रहे और उसके बाद भगवान विष्णु के पास उनके बैकुण्ड धाम में गए यह विष्णु अपने नाग सेष सईया पर विश्राम कर रहे थे धरियु ऋषि ने सीधे जाकर भगवान विष्णु के वछ स्थल पर लात मारी

उसी समय भगवान विष्णु ने महऋशु ध्रिगु के लात पकड़ ली और भगवान विष्णु पूछे आपके पैरो पर कही चोट तो नहीं लगी भगवान विष्णु की यह विनम्रता देख कर महऋशु ध्रिगु ने छमा मांगी और फिर सप्त ऋषिओ ने यह सुविकर कर लिया की भ्रमः विष्णु और महेश में से भगवान विष्णु ही श्रेस्ट है

असल में अगर सोचा जय तो भगवान भ्रमः विष्णु महेश में से तीनो ही सर्वज्ञ है उन्हें यह जरूर पता होगा की महऋशु ध्रिगु उनके परीछा ले रहे है और जो कुछ भी हुवा ये सब उनकी लीला थी भरमः विष्णु महेश एक ही पराम् तत्व से बने है इसलिए उनकी तुलना करना असंभव है

एक बिना बिना दूसरा अधूरा है दूसरे के बिना तीसरा हम सब अपने अपने इष्ट की पूजा करने के लिए सवतंत्र है। तो दोस्तों यह थी भगवान विष्णु महेश और और भ्रमः की सुन्दर कथा आप आपको समझ में आगया होगा की Sabse Bada Bhagwan कौन है और कौन है सबसे शक्तिशाली भगवान

धरती पर सबसे बड़ा भगवान कौन है

धरती का सबसे बड़ा भगवान शिव जी है।

सबसे ताकतवर भगवान कौन है

‘संसार में सबसे ताकतवर भगवान शिव जी है

सबसे बड़ा ईश्वर कौन है

सबसे बड़ा ईश्वर भरमः विष्णु महेश है।

Leave a Comment